बुधवार, 14 अक्तूबर 2015

चाहूँगा मैं तुझे सांझ सवेरे...दोस्ती

चाहूँगा मैं तुझे सांझ सवेरे...दोस्ती

Chahunga mai tujhe,

instrumental,Accordion, Mitch M Seenath

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

मोहब्बत बरसा देना तू...

सादर नमस्कार.. सावनी गीत में आज मोहब्बत बरसा देना तू, सावन आया है तेरे और मेरे मिलने का, मौसम आया है सबसे छुपा के तुझे सीने से ल...